रतलाम

हादसों का दिन: तीन लोगों की गई जान

रतलाम। बंजली में कपास फैक्टरी में शेड निर्माण के दौरान वेल्डिंग करने वाला कारीगर शेड पर ही पैर फिसलने से जमीन पर आ गिरा। उसे गंभीर स्थिति में अन्य साथी जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। शाम को ही पोस्टमार्टम करके शव परिजनों को सौंप दिया गया।

औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाने के एएसआई शरीफ खान ने बताया बंजली-सेजावता बायपास पर स्थित कॉटन फैक्टरी में शेड निर्माण का कार्य चल रहा है। इस कार्य में वेल्डिंग के लिए पीएनटी कॉलोनी निवासी फय्याज पिता इम्तियाद अली ३५ साल कार्य कर रहा था। दोपहर बाद करीब सवा तीन बजे कार्य करने के दौरान ही फय्याज का पाइप से पैर फिसला और वह संभव नहीं पाया। काफी ऊंचाई से वह जमीन पर आ गिरा और बेहोश हो गया। उसके साथ कार्य करने वाले अन्य लोग उसे गंभीर अवस्था में अपने साधन से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने परीक्षण के बाद मृत घोषित कर दिया गया। सूचना मिलने पर पुलिस भी जिला अस्पताल पहुंची। मृतक फय्याज का पोस्टमार्टम करवाकर शव शाम को ही परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

चिमनी गिरने से झुसली युवती की मौत
करवड़ थाने के महुड़ीपाड़ा निवासी एक युवती की जिला अस्पताल में बीती रात इलाज के दौरान मौत हो गई। युवती को झुलसी अवस्था में जिला अस्पताल लाया गया था।
पुलिस ने बताया महुड़ीपाड़ा निवासी कांताबाई पति दिनेश वसुनिया को चिमनी से झुलसने से सोमवार को पेटलावद के अस्पताल में ले जाया गया था। यहां उसकी गंभीर स्थिति होने पर उसे रतलाम रैफर कर दिया था। रतलाम में बीती रात लेकर परिजन पहुंचे जहां उसने रात में ही इलाज के दौरान सवा तीन बजे दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया युवती १०० फीसदी जल चुकी थी और इलाज करने के दौरान ही उसकी मौत हो गई। मंगलवार की सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

जानवर के काटने से युवक की मौत
एक सप्ताह से ज्यादा समय पहले से जानवर के काटने से जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती युवक ने मंगलवार की सुबह दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया रावटी के बीघा पाटन निवासी रायचंद पिता माना कटारा को पिछले माह की २४ तारीख को जानवर के काटने के बाद जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। इतने लंबे समय तक इलाज चलने के बाद भी उसे ठीक नहीं किया जा सका और मंगलवार की सुबह करीब पौने १२ बजे उसने अंतिम सांस ली। दोपहर में ही पोस्टमार्टम करके शव परिजनों को सौंप दिया गया।

About the author

Sachin Mali

Add Comment

Click here to post a comment